Hindi Quotes

जॉर्ज वॉशिंगटन के महान विचार – George Washington Quotes in Hindi

George Washington Quotes in Hindi
George Washington Quotes in Hindi

जॉर्ज वॉशिंगटन उद्धरण George Washington Quotes in Hindi

*****

» दिखावटी देशभक्ति के पाखण्ड से बचिए
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» काम के आदमी के साथ आपकी बात संक्षिप्त और व्यापक होनी चाहिए
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» जहाँ सत्य उजागर करने के लिए कष्ट उठाया जाता है वहां अंततः सत्य की जीत होती है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» हमारी राजनीतिक व्यवस्था का आधार लोगों का अपनी सरकार के संविधान को बदलने का अधिकार है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» युद्ध के लिए तैयार रहना शांति बनाये रखने के सबसे प्रभावी साधनों में से एक है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» मेरी पहली इच्छा मानवजाति के प्लेग युद्ध को इस धरती से ख़त्म करने की है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» किसी भी तरह की सरकार के अंतर्गत ज़रुरत से बड़ी सेना स्वतंत्रता के लिए अशुभ है और ख़ास तौर से गणतंत्रवादी स्वतंत्रता के लिए शत्रुतापूर्ण मानी जानी चाहिए
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» अपने ह्रदय में उस दीव्य चिंगारी जिसे अंतरात्मा कहते हैं को जिंदा रखने के लिए मेहनत करो
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» बुरी संगत में रहने से अच्छा अकेले रहना है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» यदि बोलने की स्वतंत्रता छीन ली जाये तो शायद गूंगे और मौन हम उसी तरह संचालित होंगे जैसे भेड़ को बलि के लिए ले जाया जा रहा हो
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» मैं सिर्फ ये कह सकता हूँ कि कोई ऐसा जीवित व्यक्ति नहीं है जो मुझसे अधिक ईमानदारी से दास-प्रथा का अंत करने की योजना को अपनाने की इच्छा रखता है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» अपने हृदय को हर किसी की वेदना और संकटों को महसूस करने दीजिये और अपने हाथों को अपने बटुए के हिसाब से देने दीजिये
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» चिंता उन लोगों द्वारा भुगतान किया ब्याज है जो उधार में मुसीबत लेते हैं
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» अनुशासन सेना की आत्मा है यह छोटी संख्या को भयंकर बना देती है कमजोरों को सफलता और सभी को सम्मान दिलाती है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» यदि आप अपनी प्रतिष्ठा का सम्मान करते हैं तो अच्छे गुडों से संपन्न लोगों के साथ जुड़िये क्योंकि बुरी संगत में रहने से अच्छा अकेले रहना है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» अनुभव हमें सिखाता है कि कब्ज़ा जमाने के बाद दुश्मन को हटाने की तुलना में उसे कब्ज़ा करने से रोकना कहीं आसान है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» सरकार तर्कपूर्ण नहीं है वह सुवक्ता नहीं है वह ताकत है आगा की तरह वह एक खतरनाक नौकर है और एक भयानक मालिक
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» कोसना और कसम खाना इतना तुच्छ और गिर हुआ काम है कि कोई भी समझदार और चरित्रवान व्यक्ति इससे घृणा करता है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» सभी देशों के प्रति अच्छी भावना और न्याय रखें सभी के साथ शांति और सद्भाव स्थापित करें
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» चलिए एक ऐसा मानक बनाएं जिसपर बुद्धिमान और ईमानदार चल सकें बाकि भगवान् के हाथ में है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» बेकार का बहाना बनाने से अच्छा है कोई बहाना ना बनाना
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» वह समय बहुत नज़दीक है जो तय करेगा कि अमेरिकी स्वतंत्र होंगे या गुलाम
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» मैंने देखा है कि जब कभी भी किसी काम को करने के लिए एक आदमी पर्याप्त है …तो दो व्यक्तियों द्वारा वो बदतर तरीके से होता है और अगर तीन या अधिक लोग लगा दिए जाएं तो शायद ही पूरा हो पाता है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» कुछ लोगों में ही सबसे ऊँची बोली लगाने वाले से बचने का गुण होता है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» सच्ची दोस्ती धीमी गति से उगने वाला पौधा है और कोई इस पदवी का हकदार बने उससे पहले उसे विपत्ति के झटको से गुजरना और उन्हें सहना होगा
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» प्रसन्नता और नैतिक कर्तव्य एक दूसरे से पूरी तरह से जुड़े हुए हैं
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» जब हमने सैनिकों की कल्पना की तो हमने नागरिकों को एक तरफ नहीं रख दिया
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» न्याय का प्रबंध सरकार का सबसे मजबूत स्तम्भ है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» यदि हम अपमान से बचना चाहते हैं तो हमें उसे झटकना आना चाहिए यदि हम शांति बांये रखना चाहते हैं जो कि हमारी बढती समृद्धि का एक बेहद महत्त्वपूर्ण उपकरण है तो ये ज़रूर पता होना चाहिए कि हम हर समय युद्ध के लिए तैयार हैं
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» मेरी माँ सबसे खूबसूरत औरत थीं जिसे मैंने कभी देखा मैं जो भी हूँ अपनी माँ की वजह से हूँ मैं अपने जीवन में मिली सभी सफलता का श्रेय उनसे मिली नैतिक बौद्धिक और शारीरिक शिक्षा को देता हूँ
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» संविधान वो मार्गदर्शक है जिसे मैं कभी नहीं छोडूंगा
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» किसी दिन संयुक्त राज्य अमेरिका का उदाहरण अपनाते हुए संयुक्त राज्य यूरोप होगा
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» मानवजाति अगर अपने आप पर छोड़ दी जाए तो खुद पर भी शासन करने के अयोग्य है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन

» स्वतंत्रता जब अपनी जड़ जमाने लगती है तो एक तेजी से बढ़ने वाले पौधे के सामान हो जाती है
……………………………………………………………………………………………………………….

– जॉर्ज वॉशिंगटन