स्वेट मार्डेन के सर्वश्रेष्ठ अनमोल विचार / Swett Marden quotes in Hindi

यदि कष्ट को हँसते हँसते सहन किया जाये तो वह भी सुखद हो जाता है, पर यह तभी हो सकता है तब कम को महान बना दिया जाये !


प्रत्येक बुरा कार्य आँखों पर पर्दा दल देता है. आत्मा को दबा देता है.


आप ईर्ष्यारूपी चुड़ैल का शिकार होकर, न्याय – तर्क – बुद्धि सबसे हाथ धो बैठते है.


सम्पूर्ण योग्यता न होने पर भी आशा से भरे हुए व्यक्ति का काम सर्वांगपूर्ण, उपयोगी और सुन्दर होगा, जबकि निराशावादी व्यक्ति का कार्य असुंदर, असंगत, अनुपयुक्त एवम् असम्बद्ध होगा.


अपने को जानना और अंतर में बसे ईश्वर के रूप को पहचानना – यही सफल जीवन का मूलमंत्र है !


उग्र विचारों का जीवन पर दुष्प्रभाव पड़ता है.


आप क्या करना चाहते हैं? इस बात की दृढ़ आशा अपने मन में रखें, क्योंकि आशा इच्छा से ज्यादा बलवान है. आप जैसी आशा करेंगे, वैसे ही बनेंगे. यह बात अधिक सच है कि “जैसा सोचोगे, वैसा बनोगे.”


तुरंत निर्णय लेने के साथ यह भी जरुरी है कि आप सही निर्णय लें. निर्णय तो मुर्ख व्यक्ति भी ले सकता है, लेकिन उसका परिणाम आप स्वयं समझ सकते हैं.


आपकी आत्मा में वह शक्ति है जो शरीर को भयंकर दुखों से बचा सकती है. आत्मा की इस शक्ति का उपयोग करें, अन्यथा आप किसी भी तीव्र विचार से रोगी हो सकते हैं, या मर भी सकते है.


विशाल धन – सम्पति प्राप्त करने के लिए पहले मन में वैसे विचार लाएं, फिर मन में उसके प्रति दृढ़ निश्चयी होकर कर्म करें. उसके बाद ही आप जीवन में धन प्राप्त कर सकते हैं.


इस दुनिया में किसी भी व्यक्ति का स्वभाव प्राकृतिक रूप से ऐसा नहीं है जिसे कम्पलीट कहा जा सके ! उसे आवश्यकता होती है – देखभाल की, आत्मसंयम की !


आप अपने सच्चे मन से, अन्तः करण से जिस वास्तु को प्राप्त करने की कोशिस करते हैं, वह आपको अवश्य प्राप्त होती है.


आपकी इच्छा शक्ति कितनी भी शक्तिशाली क्यों न हो, वह आपकी आशाओं की दासी है. अतः आप जैसी आशा करेंगे, वैसे ही बनेंगे.


स्वभाव कच्ची मिटटी की भांति होता है, जिसकी कोई शक्ल कोई शक्ल नहीं होती ! इसे आकृति देने की आवश्यकता होती है !


फिजूल – खर्ची बहुत ही बुरी आदत है, पर शरीर को भयंकर कष्ट देकर किया गया बचत उससे भी बुरा है.