शायरी ऐसा माध्यम है जिससे हम अपने दिल की बात का इज़हार करते है. कई बार ऐसा होता है की हम अपनी बात खुद नही कह पाते, किसी और तरीके से अपनी बात को कहते है जैसे आज-कल हम सभी सोशल मीडिया का उपयोग करते है व्हाट्सअप, फेसबुक, इंस्टाग्राम और भी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म. उन पर हम स्टेटस लगा कर अपनी भावनाओ को व्यक्त करते है. आज हम इस पोस्ट में आपके लिए लेकर आये है “दो लाइन शायरी हिंदी में” (Two Line Shayari in Hindi). शायरी बहुत ही आसन तरीका है अपनी बात का इज़हार करने का. आप इन शायरियो को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करके किसी के भी मन को लुभा सकते है. आशा है यह पोस्ट आपके लिए मददगार साबित होगी.

“दो लाइन शायरी हिंदी में” (Two Line Shayari in Hindi)

1.कद बढ़ा नहीं करते, ऐड़ियां उठाने से

ऊंचाईया तो मिलती हैं, सर झुकाने से।

 

2.दो शब्द तसल्ली के नहीं मिलते इस शहर में,

https://desibabu.in/wp-admin/options-general.php?page=ad-inserter.php#tab-2

लोग दिल में भी दिमाग लिए घूमते हैं।

 

3.बे-फिजूली की जिंदगी का सिल-सिला ख़त्म,

जिस तरह की दुनिया उस तरह के हम।

 

4.जिन जख्मो से खून नहीं निकलता समझ लेना

वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है।

 

5.मेरी आवाज़ ही परदा है मेरे चेहरे का,

मैं हूँ ख़ामोश जहाँ, मुझको वहाँ से सुनिए।

 

6.कुछ अलग सा है अपनी मोहब्बत का हाल है,

तेरी चुप्पी और मेरा सवाल।

 

7.आजकल देखभाल कर होते हैं प्यार के सौदे,

वो दौर और थे जब प्यार अन्धा होता था।

 

8.उसने हर नशा सामने लाकर रख दिया और कहा,

सबसे बुरी लत कौन सी हैं, मैने कहा तेरे प्यार की।

 

9.मेरे इरादे मेरी तक़दीर बदलने को काफी हैं,

मेरी किस्मत मेरी लकीरों की मोहताज़ नहीं।

 

10.लौट आती है हर बार इबादत मेरी खाली,

न जाने किस ऊँचाई पे मेरा ‘खुदा’ रहता है।

 

11.खवाहिश नही मुझे मशहूर होने की ऐ सनम,

आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है।

 

12.खुद को बिखरने मत देना, कभी किसी हाल मे,

लोग गिरे हुए माकान की, ईंटें तक ले जाते हैं।

 

13.कौन कैसा है ये ही फ़िक्र रही तमाम उम्र,

हम कैसे हैं ये कभी भूल कर भी नही सोचा।

 

14.यहाँ सब खामोश हैं कोई आवाज़ नहीं करता,

सच बोलकर कोई, किसी को नाराज़ नहीं करता।

 

15.गिरना था जो आपको तो सौ मक़ाम थे,

ये क्या किया कि निगाहों से गिर गए।

 

16.अगर बिकने पे आ जाओ तो घट जाते हैं दाम अक्सर,

न बिकने का इरादा हो तो क़ीमत और बढ़ती है।

 

17.दिल से दिल मिले या न मिले हाथ मिलाओ,

हमको ये सलीका भी बड़ी देर से आया।

 

18.दो शब्द तसल्ली के नहीं मिलते इस शहर में,

लोग दिल में भी दिमाग लिए फिरते हैं।

 

19.आप की खा़तिर अगर हम लूट भी लें आसमाँ,

क्या मिलेगा चंद चमकीले से शीशे तोड़ के।

 

20.पांवों के लड़खड़ाने पे तो सबकी है नज़र,

सर पे कितना बोझ है कोई देखता नहीं।

 

21.एक रास्ता ये भी है मंजिलों को पाने का,

सीख लो तुम भी हुनर हाँ में हाँ मिलाने का।

 

22.आईना फैला रहा है खुदफरेबी का ये मर्ज,

हर किसी से कह रहा है आप सा कोई नहीं।

 

23.जो मुँह तक उड़ रही थी अब लिपटी है पाँव से,

बारिश क्या हुई मिट्टी की फितरत बदल गई।

 

24.मिले जो मुफ्त में उस चीज की कीमत नहीं होती,

हुई है कद्र हर इक साँस की जब वक़्त आया है।

 

25.न रुकी वक़्त की गर्दिश न ज़माना बदला,

पेड़ सूखा तो परिंदों ने ठिकाना बदला।

 

26.कभी तो अपने अन्दर भी कमियां ढूढ़े,

ज़माना मेरे गिरेबान में झाँकता क्यूँ हैं।

 

27.तारीफ़ अपने आप की करना फ़िज़ूल है,

ख़ुशबू खुद बता देती है कौन सा फ़ूल है।

 

28.कागज़ों पे लिख कर ज़ाया कर दूँ मैं वो शख़्स नहीं,

वो शायर हूँ जिसे दिलों पे लिखने का हुनर आता है।

 

29.मेरे जुनूँ को ज़ुल्फ़ के साए से दूर रख,

रस्ते में छाँव पा के मुसाफ़िर ठहर न जाए।

 

30.किश्तों में खुदकुशी कर रही है ये जिन्दगी,

इंतज़ार तेरा मुझे पूरा मरने भी नहीं देता।

 

31.आइना कोई ऐसा बना दे, ऐ खुदा जो,

इंसान का चेहरा नहीं किरदार दिखा दे।

 

32.सुबह होती रही शाम होती रही

उम्र यूँ ही तमाम होती रही।

 

33.उनसे कहना अपनी किस्मत पे गुरूर अच्छा नहीं होता,

हम ने बारिश में भी जलते हुए घर देखे हैं।

 

34.हर इक रात में सौ बार जला और बुझा हूँ,

मुफ़्लिस का दिया हूँ मगर आँधी से लड़ा हूँ।

 

35.हमारी शायरी पढ़कर बस इतना ही बोले वो,

कलम छीन लो इनसे लफ्ज़ दिल चीर देते हैं।

मैने आपके साथ “दो लाइन शायरी हिंदी में” (Two Line Shayari in Hindi) साझा की है. आपको यह पोस्ट कैसी लगी, हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताये.