Lifehacks

उत्तर: आप अपना लक्ष्य अभी तक क्यों नहीं प्राप्त कर पाएं?

सफल लोगों की एक आदत होती है. वह किसी भी काम को शुरू करने से पहले उसके लिए एक लक्ष्य निर्धारित करते हैं. जीवन के हर क्षेत्र में लक्ष्य निर्धारण का अपना ही महत्व है. हम अपने कैरियर, रिलेशनशिप, फैमिली, फाइनेंस, लगभग सभी चीजों के लिए एक लक्ष्य निर्धारित करते हैं. लक्ष्य निर्धारित करने से हमें यह ज्ञात हो जाता है कि हम किस दिशा में आगे बढ़ना है.

Why You Haven’t Achieved Your Goal Yet

दुर्भाग्यवश, कुछ लोग जीवन में कभी भी अपने लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाते क्यूंकि वे अपने आप को और अपने आत्मविश्वास को बहुत ही सीमित दायरे तक रखते हैं.

आइए जानते हैं कि कैसे इस स्थिति से निपटा जाए.

#1 जानिए आपकी हद क्या है?

जब आप स्वयं के लिए एक लॉन्ग टाइम गोल डिसाइड करते हैं तब खुद से प्रश्न कीजिए कि क्या चीज आपको रोकती है?

आपने जो गोल डिसाइड किया है उसके बारे में सोचिए क्या आपकी present skill से उसे पूरा किया जा सकता है या फिर उसके लिए आपको कुछ एक्स्ट्रा सीखने की जरूरत है.

अपनी Limitation का पता लगाना सच में एक बहुत बड़ा इंटेलिजेंस है. इससे आप पता लगा सकते हैं कि आपको कहां पर वर्क करना है और यह सच में एक बहुत बड़ा कदम है जिसकी मदद से आप अपना आत्मविश्वास बढ़ा सकते हैं.

अपनी लिमिटेशन का पता लगाने के बाद आपको उसे पूरी तरीके से दूर करने पर जोर देना होगा और इसी से ही आपके पूर्ण क्षमता का पता लगाया जा सकता हैं.

For Example:

आप एक वेब डेवलपमेंट कंपनी शुरू करना चाहते हैं और लेकिन आपको वेब डेवलपमेंट की थोड़ी बहुत बेसिक नॉलेज है. यहां आपको पता है कि आपकी लिमिटेशन क्या है. अब आप एक राइट स्टेप ले सकते हैं और अपनी इस limitation को खत्म कर सकते हैं. आपको वेब डेवलपमेंट को अच्छे से सीखना है और इस फील्ड में कुछ वर्षों का एक्सपीरियंस लेना है. फील्ड का संपूर्ण ज्ञान होने के बाद यह संभावना बढ़ जाएगी कि आप जो कंपनी स्टार्ट करेंगे वह भविष्य में सफल रहेगी.

#2 अपने आत्मविश्वास का स्तर पहचानें

आपने आज तक सफल होने के लिए जितने भी आर्टिकल पड़े हैं, वीडियो देखे हैं, या लाइव सेमिनार अटेंड किए हैं. उन सभी में एक बात आपको कॉमन मिली होगी. ऐसे सेमिनार आपका आत्मविश्वास बढ़ाने पर बहुत ज्यादा जोर देते हैं. आपके आत्मविश्वास का लेवल आपकी जिंदगी में किए गए हर कार्य को प्रभावित करता है. जब आपमें पर्याप्त आत्मविश्वास होता है तब आप सफल होने की हर संभव कोशिश करते हैं.

सफलता हमेशा संभावनाओं में ही मिलती हैं. आप जितना प्रयास करेंगे सफल होने की संभावना उतनी ही बढ़ती जाती है.

यह नियम आप पर भी लागू होता है. लक्ष्य निर्धारित करने के बाद आप जितना प्रयास करते हैं, जितने नए रास्ते खोजते हैं, आपके सफल होने की संभावना उतनी ही बढ़ जाती है. आपके आत्मविश्वास का स्तर ही वह चीज है जो आपको सफल होने से रोकता है.

आप जब उस स्थिति में पहुंच जाते हैं जहां पर आपका खुद पर विश्वास सबसे ज्यादा होता है. उस समय दुनिया की कोई भी ताकत आपको सफल होने से नहीं रोक सकती.

#3 खुद पर विश्वास करना शुरू करें

दुनिया की ऐसे कोई भी ताकत नहीं है जो आपको सफल होने से रोक सके. आपकी सफलता में जो सबसे बड़ी बाधा है वह आपका मस्तिष्क जो आपको यह तय करने पर मजबूर कर देता है कि आप वह काम नहीं कर सकते.

अपना आत्मविश्वास बढ़ाकर आप अपने दिमाग पर विजय प्राप्त कर सकते हैं. एक बार आपने अपने दिमाग पर विजय पा ली तो बाहर की मुश्किलें तो अपने आप दूर हो जाएँगी.

आत्मविश्वास बढ़ाने का गुरुमंत्र यह है कि आप जो भी है, और भविष्य में जैसे भी होंगे उसकी पूर्ण रूप से जिम्मेदारी लें.

दूसरा, आप यह स्वीकार करें कि आपकी जो वर्तमान परिस्थिति है उसे आपको स्वयं ही बदलना होगा. आपको हमेशा नया सीखने और खुद को पहले से बेहतर बनाने पर जोर देना होगा.

तीसरा, आप जो भी चाहते हैं उसके लिए एक लक्ष्य निर्धारित कीजिए जो की एक निश्चित समय सीमा में प्राप्त किया जा सके.

इसके बाद आप को निरंतर, बिना थके, बिना रुके अपने लक्ष्य को वास्तविकता में बदलने के लिए काम करना होगा.

#4 लगातार प्रयास कीजिए

किसी भी इंसान के नेचुरल बिहेवियर के अनुसार वह तब तक कठिन परिश्रम करता है जब तक कि उसे वह मेथड या टेक्निक ना मिल जाए जो उसके काम आ सके. यह बात सभी चीजों पर लागू होती है चाहे वह कार्य हो, लाइफ हो या फिर रिलेशनशिप हो. हम कुछ दिनों तक उस टेक्निक या मेथड को काम में लेते हैं लेकिन उसके बाद हम वही पहले के जैसे ही बिहेव करने लगते हैं.

For Example:

एक आदमी है. वह कम्युनिकेशन स्किल्स की क्लासेस अटेंड कर रहा है जिसकी duration 45 days है. इन 45 दिनों तक और उसके लगभग एक महीने बाद तक भी उस आदमी ने अपने आस-पास के लोगों से बहुत ही अच्छी तरीके से बात की और अपने कम्युनिकेशन स्किल को इंप्रूव करने के लिए कड़ी मेहनत की लेकिन एक महीने बाद वही आदमी फिर से वैसे ही बात करने लग जाता है जैसा कि वह पहले किया करता था. हम में से लगभग सभी लोग ऐसा करते हैं.

यदि आप अपना सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाना चाह रहे हैं तो इससे अपने लक्ष्य के साथ में जोड़ दीजिए और इसके बारे में अच्छा महसूस कीजिए. अपने सेल्फ कॉन्फिडेंस को इंप्रूव करने के लिए daily उसपर वर्क कीजिए. आप इसके लिए कोई ट्रेनिंग कोर्स ज्वाइन कर सकते हैं. इसके अलावा जिन कामों को करने में आपको सबसे ज्यादा डर लगता है. आप उन्हें भी करने की सोच सकते हैं या मैं कहूंगा उन्हें करने की आप कोशिश कर सकते हैं. ऐसा करने पर आप बहुत ज्यादा Confident फील करेंगे.

अगर आप को लड़कियों से बात करने में डर लगता है तो जाइए और उनसे बात कीजिए. जब आप किसी से confident होकर बात करते हैं तो वह भी आपकी बात अच्छे से सुनते हैं और आप को ठीक से रिस्पांस भी करते हैं.

अगर आप भी चाहते हैं कि आपकी पर्सनालिटी सफल लोगों की जैसे हो तो आपको लगातार अपने आत्मविश्वास को बढ़ाना होगा. और यह आपको प्रतिदिन करना होगा.

#5 अपने खुद के जीवन के लिए इन सिद्धांतों को लागू करें

जब आप सफलता के इन सिद्धांतों को अपने जीवन पर लागू करना शुरू करेंगे तब आप जिंदगी के हर क्षेत्र में चमत्कारी बदलाव होते देख पाएंगे.

दुनिया में हर सफल व्यक्ति इसी तरीके से आगे बढ़ता है. आप भी अपने पोटेंशियल को बढ़ा सकते है. अपने लक्ष्य निर्धारित करके आप भी तेजी से सफलता की ओर बढ़ सकते हैं.

क्या आपकी जिंदगी में कुछ ऐसा था जिससे आप हासिल करना चाहते थे लेकिन हासिल नहीं कर पाए हैं?

आज ही उसके लिए एक लक्ष्य निर्धारित करें और छू ले अपनी मंजिल को. जिस दिन आपने अपनी आत्मविश्वास को इतना बढ़ा लिया कि आपके अंदर से आवाज आने लगे कि आप कोई भी काम कर सकते हैं. उस दिन आपको सफल होने से कोई नहीं रोक पाएगा.