Hindi Quotes

अरस्तु के अनमोल विचार / Arastu Quotes in Hindi

हम आपके लिए लाये हैं “Arastu Quotes in Hindi” आशा करता हूँ की ये आपको पसंद आएँगी

Arastu Quotes in Hindi
Arastu Quotes in Hindi

चरित्र को हम अपनी बात मनवाने का सबसे प्रभावी माध्यम कह सकते हैं।


सभी भुगतान युक्त नौकरियां दिमाग को अवशोषित और अयोग्य बनाती हैं।


जो सभी का मित्र होता है वो किसी का मित्र नहीं होता है।


आशा जागते हुए देखा गया स्वप्न है।


एक दोस्त क्या है? दो शरीर में रहने वाली एक आत्मा।


दोस्त बनना एक जल्दी का काम है लेकिन दोस्ती एक धीमी गति से पकने वाला फल है।



गरीबी क्रांति और अपराध की जनक है।


शिक्षित और अशिक्षित में उतना ही फर्क है जितना की ज़िन्दगी और मौत में।


भगवान भी मज़ाक के शौक़ीन होते है।


जो एक अच्छा अनुयायी नहीं बन सकता वो एक अच्छा लीडर भी नहीं बन सकता ,


अगर औरते नहीं होती तो इस दुनिया की सारी दौलत बेमानी होती।


दोस्तों के बिना कोई नहीं जीना चाहता है, भले से उसके पास अन्य सभी चीज़े हो।


अच्छा व्यवहार सभी गुणों का सार है।


पैसों के लिए की जाने वाली सभी नौकरियां हमारे दिमाग का अवशोषण और अवमूल्यन कर देती है।


संकोच युवाओं के लिए एक आभूषण है, लेकिन बड़ी उम्र के लोगों के लिए धिक्कार।


अच्छा लिखने के लिए खुद को एक आम इंसान की तरह व्यक्त करो, लेकिन सोचो एक बुद्धिमान आदमी की तरह।


बिना पागलपन के स्पर्श के किसी भी महान दिमाग का अस्तित्व नहीं होता है।


हम युद्ध करते है ताकि हम शांति में रह सके।


प्रकृति की सभी चीजों में कुछ ना कुछ अद्रुत है।


बुद्धिमान का उद्देश्य ख़ुशी को सुरक्षित रखना नहीं होता है बल्कि दुःख को दूर रखना होता है।


महान आदमी हमेशा उदास प्रकर्ति के होते है।


अरस्तु के अनमोल विचार



साहस सभी मानवीय गुणों में प्रथम है क्योंकि यह वो गुण है जो आप में अन्य गुणों को विकसित करता है।


सीखना कोई बच्चों का खेल नहीं है, हम बिना दर्द के नहीं सीख सकते है।


अपने दुश्मनों पर विजय पाने वाले की तुलना में मैं उसे शूरवीर मानता हूं जिसने अपनी इच्छाओं पर विजय प्राप्त कर ली है; क्योंकि सबसे कठिन विजय अपने आप पर विजय होती है।


नौकरी में ख़ुशी, काम में निखार लाती है।


मनुष्य स्वभाव से एक राजनीतिक जानवर है।


दुर्भाग्य से उन लोगों का पता चलता है जो वास्तव में आपके मित्र नहीं है।


वो जो एकांत में खुश रहता है या तो एक जानवर होता है या फिर भगवान।


युद्ध जितना पर्याप्त नहीं है, शांति कायम करना ज्यादा महत्त्वपूर्ण है।


शिक्षा बुढ़ापे के लिए सबसे अच्छा प्रावधान है।


कोई भी उस व्यक्ति से प्रेम नहीं करता जिससे वो डरता है।


आत्मा कभी भी मानसिक चित्र के बिना नहीं सोचती है।


शिक्षा की जड़ें कड़वी होती है लेकिन फल मीठे होते है।


डर बुराई की अपेक्षा से उत्पन्न होने वाला दर्द है।


चरित्र को अनुनय का सबसे अधिक कारगर साधन कह सकते है।


आदमी एक लक्ष्यों की मांग करने वाला प्राणी है उसकी ज़िन्दगी का तभी अर्थ है जब वो अपने लक्ष्यों के लिए प्रयास करता रहे और उन्हें प्राप्त करता रहे।


सभी आदमियों की प्रकृति ज्ञान चाहने वाली होती है।


बुद्धिमान आदमी बोलता है क्योंकि उसके पास कहने के लिए कुछ होता है जबकि मुर्ख आदमी बोलता है क्योंकि उसे कुछ कहना होता है।


मनुष्य अपनी सबसे अच्छे रूप में सभी जीवों में सबसे उदार होता है, लेकिन यदि कानून और न्याय न हो तो वो सबसे खराब बन जाता है।


उत्कृष्टता वो कला है जो प्रशिक्षण और आदत से आती है। हम इस लिए सही कार्य नहीं करते कि हमारे अन्दर अच्छाई या उत्कृष्टता है, बल्कि वो हमारे अन्दर इसलिए हैं क्योंकि हमने सही कार्य किया है। हम वो हैं जो हम बार बार करते हैं, इसलिए उत्कृष्टता कोई कार्य नहीं बल्कि एक आदत है।



क्रोध एक उपहार है।


जो अपने डर को जीत लेता है वो सही अर्थों में मुक्त होता है।


ख़ुशी ही जीवन का उद्देशय और अर्थ है।


बुरे व्यक्ति पश्चाताप से भरे होते हैं।


एक अच्छा इंसान और एक अच्छा नागरिक बनना एक बात नहीं है।


मनुष्य के सभी कार्य इन सातों में से किसी एक या अधिक वजहों से होते हैं: मौका, प्रकृति, मजबूरी, आदत, कारण, जुनून, इच्छा।


वो जो बच्चों को शिक्षित करते हो वो उन्हें पैदा करने वालो से ज्यादा सम्मानीय है क्योकि वो उन्हें केवल ज़िन्दगी देते है जबकि वो उन्हें सही तरीके से ज़िन्दगी जीने की कला सीखाते है।


शिक्षित मन की यह पहचान है की वो किसी भी विचार को स्वीकार किए बिना उसके साथ सहज रहे।


हम वो है जो हम बार बार करते है। उत्कृष्टता कोई तरीका नहीं बल्कि आदत है।


पचास दुश्मनो का एन्टीडोट एक मित्र है। (एन्टीडोट – किसी चीज़ के विषैल प्रभाव को ख़त्म करने के लिए दी जाने वाली दवा )


सभी लोगों में सही का अनुसरण करने का साहस होना चाहिए न की जो स्थापित है उसका।



मित्र का सम्मान करो, पीठ पीछे उसकी प्रशंसा करो, और आवश्यकता पड़ने पर उसकी सहायता करो।


खुशी हम पर निर्भर करती है।


प्रकृति बेकार में कुछ नहीं करती है।


युवा आसानी से धोखा खाते है क्योंकि वो शीघ्रता से उम्मीद लगाते है।


बिना दिल को शिक्षित किए दिमाग को शिक्षित करना, वास्तव में शिक्षा नहीं है।


प्रसन्नता स्वयं हमारे ऊपर निर्भर करती है।


न तो हमें कायर होना चाहिए न ही अविवेकी बल्कि हमें साहसी होना चाहिए।


जितना ज्यादा आप जानोगे, उतना ज्यादा आप यह जानोगे की आप कुछ भी नहीं जानते।


अपने आप को जानना ही ज्ञान की शुरुआत है।


हमारे जीवन के गहनतम अंधकार के वक़्त हमें अपना ध्यान रोशनी देखने पर केंद्रित करना चाहिए।


दोस्तों के बिना कोई भी जीना नहीं चाहेगा, चाहे उसके पास बाकि सब कुछ हो।


अच्छी शुरुआत से आधा काम हो जाता है।


आलोचना से बचने का एक ही तरीका है : कुछ मत करो, कुछ मत कहो और कुछ मत बनों।


ख़ुशी आत्म निर्भरता से सम्बंधित होती है।


एक मात्र स्थिर अवस्था वो है जिसमे सभी इंसान कानून के समक्ष बराबर है।


लोकतंत्र तब है जब किसी अमीर की जगह कोई गरीब देश का शासक हो।


कोई भी क्रोधित हो सकता है- यह आसान है, लेकिन सही व्यक्ति से सही सीमा में सही समय पर और सही उद्देश्य के साथ सही तरीके से क्रोधित होना सभी के बस कि बात नहीं है और यह आसान नहीं है।


धैर्य कड़वा है पर इसका फल मीठा है।


अनुशासन से स्वतंत्रता आती है।


एक दोस्त आपकी दूसरी आत्मा है।


किसी मनुष्य का स्वभाव ही उसे विश्वसनीय बनाता है, न कि उसकी सम्पत्ति।


मन की ऊर्जा ही जीवन का सार है।


हम बहादुर कार्यों के द्वारा ही बहादुर बन सकते है।


एक निश्चित बिंदु के बाद, पैसे का कोई अर्थ नहीं रह जाता।


सम्पूर्ण अपने हिस्सों के कुल जोड़ से ज्यादा है।


दर्शन (फिलोसोफी) लोगो को बीमार बना सकता है।


मनुष्य प्राकृतिक रूप से ज्ञान कि इच्छा रखता है।

 

Imp: I wish you loved “Arastu Quotes in Hindi” If you want to read more like “Arastu Quotes in Hindi” then please like our facebook page and subscribe to kamkibate.