Inspirational

सुनो सबकी करो मन की | Inspirational Story in Hindi

फ्रेंड्स आपने सुना होगा जो काम मन लगा कर करते है उस काम को करने में आप थकते नहीं है और बड़ी स्पीड के से उस काम को करना चाहते है पर जब कोई काम बिना मन के कर रहे होते है तो थोड़ी ही देर में आप उस काम से बोर हो जाते है और आपके काम करने की इच्छा सकती खत्म होने लगती है

Inspirational Story in Hindi

फ्रेंड्स में आपको एक कहानी सुनाता हूँ  मुझे पूरा विश्वास है की इस कहानी को सुनने के बाद समाज क्या कहेगा आप ये भूल जाएंगे और अपने मन से और अपने विवेक से अपना Decision खुद लेंगे

एक बार एक बाप को एक बेटा खच्चर पर सामान लिए कहीं दूर जा रहे होते है थोड़ी दूर जाने पर बाप अपने बेटे से कहता है बेटा तुम थक गए होंगे तुम खच्चर पर बैठ जाओ में पैदल चलता हूँ बेटा खच्चर पर बैठ जाता है थोड़ी दूर जाने पर उधर से कुछ लोग गुज़रते है और बेटे की तरफ देखते हुए कहते है कैसा नालायक बेटा है खुद खच्चर पर बैठा है और बाप पैदल चल रहा है बेटा उनकी बात सुनता है और खच्चर से उतरकर बाप को बैठने को कहता है  बेटे के कहने  पर बाप खच्चर पर बैठ जाता हैं थोड़ी दूर जाने पर कुछ और लोग मिलते है और बोलते है कैसा पिता है बेटा को पैदल चला रहा है और खुद खच्चर पर बैठा है बाप जब यह बात सुनता है तो वो अपने बेटे को भी खच्चर पर बैठा लेता है और दोनों खच्चर पर बैठकर जाने लगते है थोड़ा और आगे जाने पर कुछ लोग और मिलते है और कहते है अरे तुम , इंसान हो की जानवर दोनों इस खच्चर पर बैठे हो बेचारे इस खच्चर की जान लोगे क्या ऐसा सुनकर बाप और बेटा दोनों पैदल चलने लगते है रास्ते  में फिर उन्हें एक आदमी मिलता है और बोलता है कैसे पागल है दोनों  खच्चर होते हुए भी पैदल चल रहे है अब बाप बेटे का दिमाग ठनक जाता है कैसे लोग है दुनिया में हर चीज़ पर अलग अलग राय देते है किसी भी तरह से जीने नहीं देते है फिर बात कहता है बेटा इस संसार में सुनना सब की लकिन करना वही जो तुमहारा दिल और दिमाग कहे

दोस्तों हमारी लाइफ में भी बहुत से ऐसे लोग मिलते है जो मुफ्त में सलाह देते है पर उनकी सलाह कितनी सही होती है यह तो हमे ही जांचना होता है तो इसलिए सुनो सबकी करो मन की | जब कोई काम अपने मन से करेंगे तो उसकी सफलता और असफलता पर आपका अधिकार होगा दोस्तों अपने विवेक का उपयोग कर आपको जो सही लगे वही करे