वो तो बस दुनिया के रिवाजो की बात है

वर्ना संसार में माँ के अलावा

कोई सच्चा प्यार नहीं करता

True Story of a Mother In Hindi

दोस्तों आपको याद होगा कुछ समय पहले जापान में एक भयानक भूकंप आया था  और उसी समय की दिल को छू लेने वाली एक सच्ची घटना में आपके साथ शेयर करने जा रहा हूँ.

भूकंप के बाद बचाव करने वालो की टीम एक महिला के पूरी तरह गिरे हुए घर की जाँच कर रहा था. बारीक़ दरारों में से उन्होंने देखा तो महिला बहुत ही अजीब अवस्ता में बैठी थी. वैसे ही जैसे लोग मंदिर में बैठकर पूजा करते है या फिर  मज़्ज़ित में बैठकर नमाज पढ़ते है  लकिन उन्हें कुछ साफ़ से दिखाई नहीं दे रहा था.  काफी मेहनत के बाद बचाव दल के लोगो ने बारीक़  दरारों में से थोड़ी सी जगह बनाकर अपना हाथ महिला की तरफ बढ़ाया उन्हें उम्मीद थी की शायद महिला जिन्दा हो लकिन मकान के गिर जाने से उस महिला के पीठ और सर पर काफी चोट लगी थी और छूकर देखा गया तो पूरा शरीर ठंडा हो गया था.

https://desibabu.in/wp-admin/options-general.php?page=ad-inserter.php#tab-2

बचाव दल को समझ आया गया की महिला अब जीवित नहीं बची है. ऐसा जानने के बाद वे उस घर को छोड़कर दूसरे मकानों की और चले गए लेकिन उस टीम के हेड का कहना था की पता नहीं क्यों उस महिला का घर मुझे अपनी तरफ खींच रहा था. कुछ तो था मुझे कह रहा था की में  इस घर को ऐसे छोड़कर न जाऊ. इसलिए उन्होंने अपनी टीम को वापस उस घर की  अच्छे से जाँच करने का आदेश दिया.

बचाव दल एक बार फिर उस महिला के घर की तरफ पहुंचा और इस बार बचाव दल के प्रमुख ने कचरे को हटाकर उस महिला को वहा से हटाने की कोशिश करने लगा. तभी उसके मुँह से निकला यहां एक बच्चा भी है. अब पूरा दल अच्छी तरीके से मलबे को हटाने में लग गया. तब उन्होंने देखा की महिला के मृत शरीर  के नीचे एक टोकरी में रेश्मी कम्बल में लिपटा हुआ करीब तीन महीने का एक छोटा सा बच्चा है. वहां पर खड़े सभी लोगो को समझ में आ गया था की महिला ने अपने बच्चे को बचाने के लिए अपने जीवन त्याग दिया.

भूकंप के समय जब घर गिरने वाला था. तब उस महिला ने अपने शरीर से सुरक्षा देकर  अपने बच्चे की रक्षा करने की कोशिश की थी. डॉ की टीम भी बहुत ही जल्द वहां पहुंच गयी. उन्होंने जब बच्चे की जाँच की. तब बच्चा बेहोश था. डॉ ने बच्चे से लिपटे हुए कपडे को हटाया तो उन्हें वहां एक लेटर मिला जिसमे लिखा हुआ था. मेरे बच्चे अगर तुम बच गए हो तो बस इतना याद रखना की तुम्हारी माँ तुमसे बहुत प्यार करती थी.

उस लेटर को पड़ने  के बाद सबकी आँखे नम हो गयी

इन्हें भी पढ़ें –