HomePoem

“प्रेम कविता हिंदी में” (Love Poem in Hindi)

“प्रेम कविता हिंदी में” (Love Poem in Hindi)
Like Tweet Pin it Share Share Email

जब प्यार होता है तो ऐसा लगता है जैसे पूरी दुनिया खूबसूरत हो गयी हो! यह एक मीठा सा अहसास है. जीवन जीने में ही प्रेम की मत्वपूर्ण भूमिका है। इस पोस्ट में हम आपके लिए लेकर आये है “प्रेम कविता हिंदी में” (Love Poem in Hindi). यह कविताये आप अपने चाहने वालो के साथ साझा कर सकते है.

“प्रेम कविता हिंदी में” (Love Poem in Hindi)

1.कविता- नई नई

कैसी उठी है दिल में, शरारत नई-नई…२

दिल चाहता है अब करना, मुहोब्बत नई-नई!

हो दिल से निकली हर बात, जो सुने कोई दिल से…२

दिल चाहता है अब करना, इबादत नई-नई!

उसके चहरे की अलकों में, छिपा हो कोई नग्मा…

पढ़ ले जिसे कोई, तो आए क़यामत नई-नई!

मुक्कदर में मेरे, लिखी है खुशियाँ तुझसे ही…

शायद खुदा की है तू कोई रहमत नई-नई

 

2.कविता- दिल किसी का तोड़ना मत

 

प्यार सच्चा झूठा करना मत,

कभी भी दिल किसी का तोड़ना मत

तोड़ना मत

दिल नाज़ुक होता है तो

उसे तोड़ना मत

दिल कोई खेल का मैदान नहीं

उसपे प्यार का खेल खेलना मत

चाहते हो तुम किसी को दिल से

तो उसकी आँखों में आँसू लाना मत

 

कभी भी दिल किसी का तोड़ना मत

तोड़ना मत

प्यार एक खूबसूरत दरिया है

उसमें झूठ का कचरा फैलाना मत

जिसे तुम प्यार करते हो

उसे धोखा देना मत

कभी भी किसी का दिल तोड़ना मत

तोड़ना मत

 

3.कविता- काश…काश…

 

कहने की हैं बातें

डरता हूँ

जब सोता हूँ रातें

सोचता हूँ

काश हम मिलें

कुछ बोलें

दर्द सिले

कुछ न टोले

 

चाहता नहीं हूँ

पर चाहता भी हूँ

क्यों यह रिश्ता

नहीं जाता बरिस्ता

चलो कुछ लम्हों के लिए

बन जाओ मेरे लिए

मैं रहूँ तुम्हारी बाहों में

और तुम मेरी सांसों में

काश …काश …

4.कविता- हमें भी यह मौका

 

कभी दो हमें भी यह मौका,

सजदे में तेरे झुक जाएं हम,

लेके हाथ तेरा हाथों में,

प्यार की चूड़ियाँ पहनाएं हम

कभी दो हमें भी यह मौका,

 

कभी दो हमें भी यह मौका,

ज़ुल्फों की छाँव में रहने का,

तेरे कानों में गुफ़्तगू कहने का,

कभी दो हमें भी यह मौका,

कभी दो हमें भी यह मौका,

होठों से होठ मिलाने का,

तेरी बाहों में सो जाने का,

रात में तेरे ख्वाबों में जी लेने का,

कभी दो हमें भी यह मौका,

कभी दो हमें भी यह मौका,

शाम के एहसास का,

गहरे से जज़्बात का,

आँखों में डूब जाने का,

कभी दो हमें भी यह मौका,

 

कभी दो हमें भी यह मौका,

नज़्म में तुझको दिल दे जाने का,

ग़ज़ल में तेरे गीत गुनगुनाने का,

सुरों की ज़िन्दगी में तेरे शामिल हो जाने का,

कभी दो हमें भी यह मौका,

कभी दो हमें भी यह मौका,

ज़िन्दगी की मुकम्मलता का,

दुल्हन बन के तुम्हारे घर आजाने का,

सुहाग की सेज पर हमको प्यार जताने का,

कभी दो हमें भी यह मौका,

कभी दो हमें भी यह मौका,

सुबह आँख खुले तो तेरे दीदार का,

बाहों में सुलगते से जिस्म का,

मांग में तेरी सिन्दूर भर देने का,

कभी दो हमें भी यह मौका,

खुदको जाता देने का,

अपना प्यार दिखने का,

कभी दो हमें भी यह मौका

 

5.कविता- रात की खुमारी

 

मूक अँधेरी रात में

किसने छेड़ी बांसुरी की विरह तान

कसमसाती हैं कलियाँ

सनसनाते हैं कुछ गुमसुम अरमान

बहती चपल बयार

दिल का दुखड़ा कोई गुनगुनाती है

साजन की याद में

तड़पती विरहन कोई कुनमुनाती है

चाँद है बरसाता

नभमंडल से स्वेत अनुरागी कण

धरा चूमती जिनको

रसीले अधरों से हर-पल हर-क्षण

अप्सरा करती श्रृंगार

थामकर हाथों में अलौकिक दर्पण

झिलमिल तारे झूमकर

करते शुभ बेला में यौवन अर्पण

पारदर्शी हिम शिखर

आईनेदार दरख्तों पर खड़ी है

सफ़ेद आँचल तले

उजली हिरे मोतियों से जड़ी है

मौन अमलतास की

कोमल पत्तियाँ देखो चुलबुलाती हैं

ओस की रेशमी बूंदें

चांदनी की फुहार में कुलबुलाती हैं

भोर अभी आना मत

मनभावन चांदनी अभी कुँवारी है

जवां है इक मधुशाला

बावली रात की अजीब खुमारी है.

मैने आपके साथ “प्रेम कविता हिंदी में” (Love Poem in Hindi) साझा की है. आपको यह पोस्ट कैसी लगी, हमे कमेंट करके जरुर बताये.