कहानियां

Motivational and Inspirational Hindi Story with Moral

दोस्तों एक  समझदार व्यक्ति वही है जो दुसरो को देखकर उनकी विशेषताओ से सीखता है न की उनकी कमियों से ऐसा में क्यों कह  रहा हूँ आगे की कहानी में आपको बताऊंगा

Motivational and Inspirational Hindi Story with Moral

एक बार एक kisan जंगल में लकड़ी बीनने गया उसने एक लोमड़ी को देखा जिसके दो पैर नहीं थे फिर भी वो बहुत खुश लग रही थी वह कैसे भी करके एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाती थी लोमड़ी को देखकर किसान को दया आ रही थी वह सोचने लगा यह जंगल में जीवित कैसे है यह कही जाकर शिकार भी नहीं कर सकती और बड़े जानवर से अभी तक सुरक्षित कसे बची हुई है तभी उसने देखा एक शेर अपने दांतो में एक शिकार दबाये उसकी तरफ आ रहा है  सभी जानवर भागने लगे वह किसान भी जल्दी से पेड़ पर चढ़ गया लकिन लोमड़ी भाग नहीं पा रही थी और वह वही पर खड़ी थी उसने देखा की शेर उस लोमड़ी के पास आया उसे अपना भोजन बनाने की जगह प्यार से अपने शिकार का थोड़ा सा हिस्सा डाल कर चला गया शेर के वापस चले जाने पर किसान पेड़ से उतरा और ज्यादा शाम होने की वजह से वो घर लोट आया और रात भर इस घटना को सोचता रहा फिर से अगले दिन किसान वही पर लकडिया बीनने गया दूसरे दिन भी उसने देखा की शेर ने लोमड़ी को अपने शिकार का हिस्सा दे दिया किसान ने इस अद्बुध लीला के लिए भगवान का शुक्रियादा किया  उसे अहसास हो गया की ऊपर वाला जिसे पैदा करते  है उसकी रोटी का भी  इंतजाम कर देते है ये सब देखने के बाद वो एक जंगल में चला गया और एक जगह जाकर बैठ गया उसने सोचा ऊपर वाला जिसे  पैदा करते है उसकी रोटी का भी  इंतजाम कर देते है वो मेरे लिए भी कोई न कोई इंतजाम तो कर हे देंगे कई दिन गुजरने के बाद भी कोई नहीं आया अब वो भूख से कमजोर हो गया अब उसे खाना नहीं मिला मिलता तो उसकी जान निकल जाती अंत में वो अपने घर वापस आने की सोचा तभी उसे एक विद्वान महात्मा मिले  उन्होंने उसे बुलाया और पानी पिलाया वह किसान उनके चरणों में गिरकर बहुत बहुत धन्यवाद् किया  और फिर लोमड़ी की बात करते हुई बोला महाराज उस अपंग लोमड़ी पर दया दिखयी पर में तो मरते मरते बचा मेरे पर दया क्यों नहीं दिखयी  महात्मा उसके सर पर हाथ  फिराया और मुस्कुराया और बोला की तुम  इतने नासमझ हो गए की तुमने भगवान का इशारा भी नहीं समझा इसलिए तुमने इस तरह की मुसीबत का सामना करना पड़ा और कहा तुम ये क्यों नहीं समझते की भगवान तुम्हे उस शेर की तरह मदत करने वाला बनते देखना चाहते थे उस लाचार लोमड़ी की तरह नहीं

दोस्तों हम्हारे जीवन में भी ऐसा कई बार होता है की तुम्हे चीज़े जिस तरह समझनी चाहिए उसके विपरीत समझ लेते है भगवान ने हम सब में कुछ न कुछ ऐसी शक्तिया दी है जो हमे महान बना सकती है चुनाव हमे करना है की शेर बनना है या लोमड़ी