मन की गतिविधियों, होश, श्वास, और भावनाओं के माध्यम से भगवान की शक्ति सदा तुम्हारे साथ है; और लगातार तुम्हे बस एक साधन की तरह प्रयोग कर के सभी कार्य कर रही है। -Srimadbhagwadgita


कोई व्यक्ति सिर्फ चाह कर नास्तिक नहीं बन सकता। -Napoleon Bonaparte


अनुभव हमें सिखाता है कि कब्ज़ा जमाने के बाद दुश्मन को हटाने की तुलना में उसे कब्ज़ा करने से रोकना कहीं आसान है। -George Washington


ज़िन्दगी इसे जीने वाले को प्यार करती है। -माया एंजिलो


यदि आप दृढ संकल्प और पूर्णता के साथ काम करेंगे तो सफलता ज़रूर मिलेगी। -धीरूभाई अंबानी


सत्य और तथ्य में बहुत बड़ा अंतर है। तथ्य सत्य को छिपा सकते हैं। -Maya Angelou

https://desibabu.in/wp-admin/options-general.php?page=ad-inserter.php#tab-2

हमारा एक नॉर्मल होता है, जब आप अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकल जाते हैं तो जो एक समय अनजाना और भयभीत करने वाला था अब आपका न्यू नॉर्मल बन जाता है। -रॉबिन शर्मा


भगवान, हमारे निर्माता ने हमारे मष्तिष्क और व्यक्तित्व में असीमित शक्तियां और क्षमताएं दी हैं। इश्वर की प्रार्थना हमें इन शक्तियों को विकसित करने में मदद करती है। -Abdul Kalam


एक शब्द में, यह आदर्श है कि तुम परमात्मा हो। -Swami Vivekananda


शांति की शुरुआत मुस्कराहट से होती है। -Mother Teresa


यदि आप सचमुच विश्व – स्तरीय होना चाहते हैं – जितने अच्छे हो सकते हैं होना चाहते हैं तो अंतत: ये आपकी तैयारी और अभ्यास पर निर्भर करेगा। -रॉबिन शर्मा


जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की। -अल्बर्ट आइंस्टीन


जब तक गलती करने की स्वतंत्रता ना हो तब तक स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं है। -महात्मा गांधी


एक मेज, एक कुर्सी, एक कटोरा फल और एक वायलन; भला खुश रहने के लिए और क्या चाहिए। -ऐल्बर्ट आइनस्टाइन


अकेले हम कितना कम हासिल कर सकते हैं, साथ में कितना ज्यादा। -Helen Keller