कहानियां

“रोमियो और जूलियट की कहानी हिंदी में” (Story of Romeo and Juliet in Hindi)

रोमियो और जूलिएट के प्रेम कहानी के किस्से हम सभी ने बहुत सुना है. यहा तक की फिल्मो में भी इसका जिक्र अक्सर होता है. अगर किसी को सच्चे प्यार को उदाहरण बताना होता है तो वे रोमियो और जूलिएट का नाम जरुर लेते है. रोमियो और जूलिएट प्रेम की एक रोमांचक कहानी है. 1562 में, आर्थर ब्रूके ने दी ट्रेजिकल हिस्ट्री ऑफ़ रोमियो एंड जूलिएट के नाम से कविता लिखी थी. उसके बाद 1591 और 1595 के बीच, विलियम शेक्सपियर ने इस कहानी को लिखा और 1597 में, इस कहानी को किताब में प्रकाशित किया गया था। शुरू में. इस किताब की कहानी के शब्दों की गुणवत्ता भलीभांति नही थी. लेकिन बाद में, इसके लेखन को सुधारकर अच्छी गुणवत्ता वालो शब्दों के साथ प्रकाशित किया गया. विलियम शेक्सपियर उनकी कविताओ का उपयोग नाटकीय और हास्य रूप में करते थे. समय के साथ इस कहानी में कई बदलाव किये गये. यहां तक की ,21 वी शताब्दी में इस कहानी पर आधारित फिल्म रोमियो एंड जूलिएट भी बनायी गयी। आइये! रोमियो और जूलिएट की प्रेम कहानी को विस्तार से जानते है-

रोमियो और जूलियट की कहानी हिंदी में (Story of Romeo and Juliet in Hindi)

रोमियो और जूलिएट एक पार्टी में मिले थे, उन्हें वहां पर एक-दुसरे से प्यार हो जाता है. उन दोनों के परिवार एक-दुसरे के गहरे दुश्मन थे, रोमियो और जूलिएट जानते थे की उनके परिवारवाले उनकी शादी कभी नही होने देगे. इसी वजह से, रोमियो और जूलिएट ने फ्रिअर लौरेंस की मदद से बिना किसी को खबर दिए शादी कर ली. इस बात की खबर जूलिएट के भाई को लग जाती है और वह रोमियो को मारने के लिए पहुच जाता है. इस घटना के दौरान, रोमियो से जूलिएट के भाई का कत्ल हो जाता है. रोमियो के हाथो क़त्ल होने के बाद, वह जूलियट को छोड़कर उस शहर से गायब हो जाता है, क्योकि अगर वह उस शहर में रहता तो उसे मार दिया जाता.

See also  जो होता है अच्छे के लिए होता है - Everything Happens for Good

 

जूलिएट की शादी से अनजान उसके माता-पिता जूलिएट की शादी पेरिस में करने का विचार कर रहे थे. लेकिन जूलियट ने शादी से मना कर दिया. वह रोमियो के बिना नही रह पा रही थी इसलिए उसने मौत का बहाना बनाकर रोमियो के साथ भागने की योजना बनाई. जूलिएट ने पूरी योजना निर्धारित कर ली थी और वह नींद की दवाई लेकर सो गयी. ताकि सबको यह की उसकी मौत हो चुकी है और उसे मकबरे मे दफना दिया जाए. इस योजना का रोमियो को बिलकुल भी अंदाजा नही था, जब रोमियो को खबर लगी तो उसने सोचा की जूलिएट वास्तव में मर चुकी है, इसलिए उसने भी खुद की हत्या कर ली. जब जुलिएट को होश आया था उसने देखा की वो मर चुका है, इस घटना से दुखी होकर जूलिएट ने खुदखुशी कर ली.

मैने आपके साथ “रोमियो और जूलियट की कहानी हिंदी में” साझा की है. आपको यह कहानी कैसी लगी, अपने विचार हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताये!

Related Articles

Back to top button