Hindi Quotes

William Shakespeare Quotes in Hindi | विलियम शेक्सपीयर के अनमोल विचार

हम आपके लिए लाये हैं “William Shakespeare Quotes in Hindi” आशा करता हूँ की ये आपको जरूर पसंद आएँगी

 

William Shakespeare Quotes in Hindi
William Shakespeare Quotes in Hindi

 

हम जानते हैं की हम क्या हैं,पर हम ये नहीं जानते की हम क्या हो सकते हैं.


सच्चे प्यार का रास्ता कभी आसान नहीं होता.


कुछ भी अच्छा या बुरा नहीं होता बस सोच उसे ऐसा बनाती है.


अपेक्षा सभी ह्रदय-पीड़ा की जड़ है.


पर हे, दूसरे की आँखों से खुशियाँ देखना कितना कडवा है.


सभी से प्रेम करो, कुछ पर विश्वास करो,किसी के साथ गलत मत करो.


अच्छाई की प्रचुरता बुराई में बदल जाती है.


प्रतिकूल परिस्थितियों की उपयोगिता मधुर होती है, जैसे कि वो मेंढक, बदसूरत और विषैला होने के बावजूद उसके सिर में अनमोल रत्न है.


सुनहरा युग हमारे सामने है, ना कि पीछे.


मेरा कहना है कि वहां अन्धकार नहीं बल्कि अज्ञानता है.


बिना विचारों के शब्द कभी स्वर्ग नहीं जाते.


जो हो चुका है उसे बदला नहीं जा सकता.


मैंने समय नष्ट किया, और अब समय मुझे नष्ट कर रहा है.


नाम में क्या रखा है? अगर हम गुलाब को कुछ और कहें तो भी उसकी सुगंध उतनी ही मधुर होगी.


जब वो बहादुर था मैंने उसका सम्मान किया .पर जब वो महत्त्वाकांक्षी हुआ तो मैंने उसे मार दिया.


जब एक पिता अपने पुत्र को देता है तो दोनों हँसते हैं; जब एक पुत्र पिता को देता है तो दोनों रोते हैं.


वो अपना प्यार नहीं दिखाते तो वो प्यार नहीं करते.


जैसे शरारती बच्चों के लिए मक्खियाँ होती हैं,वैसे ही देवताओं के लिए हम होते हैं; वो अपने मनोरंजन के लिए हमें मारते हैं.


शैतान अपने उद्देश्य के लिए वेदों का सहारा ले सकते हैं.


अपनी भाषा पर ज़रा ध्यान दीजिये अन्यथा आप अपने भाग्य खराब कर लेंगे.


एक सर्प दन्त की तुलना में एक अकृतज्ञ बच्चा होना कितना तीक्षण है!


अगर करना उतना ही आसान होता जितना की जानना की क्या करना अच्छा है, तो शवगृह गिरिजाघर होते , और गरीबो के झोंपड़े महल.


प्रत्येक व्यक्ति को अपने आचरण का परिणाम धैर्यपूर्वक सहना चाहिए.


एक मूर्ख खुद को बुद्धिमान समझता है, लेकिन एक बुद्धिमान व्यक्ति खुद को मूर्ख समझता है.


सबसे बढ़कर ज़रूरी है कि हम खुद से सच्चे रहे.


गरीब और संतुष्ट संपन्न है,बहुत संपन्न.


लेकिन आदमी आदमी होता है; जो सबसे अच्छे होते हैं वो कई बार ये भूल जाते हैं.


वो पिता बुद्धिमान है जो अपनी संतान को जानता है.


जब हम पैदा होते हैं तब हम रोते हैं कि हम मूर्खीं के इसे विशाल मंच पर आ गए.


मेरा मानना है कि फैशन इंसानों से अधिक कपडे फाड़ता है


संक्षिप्तता हास्य की आत्मा है.


एक छोटी सी मोमबत्ती का प्रकाश कितनी दूर तक जाता है! इसी तरह इस बुरी दुनिया में एक अच्छा काम चमचमाता है.


समय के साथ जिससे हम अक्सर डरते हैं उससे नफरत करने लगते हैं.


मेरा मुकुट संतुष्टि है, ऐसा मुकुट जिसका राजा-महाराजा कभी-कभार ही आनंद लेते हैं.


जैसे हम बने हैं, वैसे ही हम रहें.


सभी लोगों की सुनें पर कुछ ही लोगों से कहें.


डरपोक अपनी मृत्यु से पहले कई बार मरते हैं; बहादुर मौत का स्वाद और कभी नहीं बस एक बार चखते हैं.


नौकरानियां कुछ नहीं बस पति चाहती हैं,और जब वो उन्हें पा जाती हैं, तब उन्हें सब कुछ चाहिए होता है.


महत्वाकांक्षा सख्त चीजों से बनी होनी चाहिए.


हमारी किस्मत सितारों में नहीं बल्कि हमारे अपने अन्दर है.


संदेह हमेशा कसूरवार को सताता है.


भगवान ने तुम्हे एक चेहरा दिया है, और तुम अपने लिए एक नया बना लेते हो.


मौत एक भयावह चीज है.


महानता से घबराइये नहीं: कुछ लोग महान पैदा होते हैं, कुछ महानता हांसिल करते हैं, और कुछ लोगों के ऊपर महानता थोप दी जाती है.


नर्क खाली है और सभी शैतानों यहाँ हैं.


खाली बर्तन सबसे अधिक आवाज़ करते हैं.


आनंद और खिलखिलाहट के साथ झुर्रियां आने दीजिये.


बुद्धिमानी से और धीरे. जो तेजी से दौड़ते हैं वो लड़खड़ा जाते हैं.


एक महान काम करने के लिए थोड़ी गलतियाँ भी करिए.


मैं हर उस आदमी की प्रशंशा करूँगा जो मेरी प्रशंशा करेगा.


धीमे बोलो, अगर प्यार के बारे में बोल रहे हो.


झूठी लड़ाई में कोई सच्ची वीरता नहीं होती.


एक मिनट देर से आने से अछ्छा है तीन घंटे पहले आएं.


ये दुनिया एक रंगमंच है , और सभी पुरुष और स्त्रियाँ महज किरदार हैं: उनको आना और जाना होता है; और एक व्यक्ति अपने जीवन में कई किरदार निभाता है.


मछलियाँ पानी में रहती हैं, जैसे इंसान जमीन पे रहता है; बड़े वाले छोटे वालों को खा जाते हैं.


जब दुःख आता है तो एक अकेले जासूस की तरह नहीं आता, बल्कि पूरी बटालियन की तरह आता है.


जैसा करो वैसा बोलो, जैसा बोलो वैसा करो.


कोई भी विरासत ईमानदारी से समृद्ध नहीं है.


कई बार फांसी एक बुरी शादी से बचा लेती है.


मैं अपने उत्तर से आपको संतुष्ट करने के लिए बाध्य नहीं हूँ.


पढने के विरुद्ध तर्क देने के लिए वह कितने अच्छे से पढ़ा हुआ है.


ना उधार लो ना ऋण दो.

More Quotes for You:

Imp: I wish you loved “William Shakespeare Quotes in Hindi” If you want to read more like “William Shakespeare Quotes in Hindi” then please like our facebook page and subscribe to kamkibate.