Biography Inspirational

Michael Jordan Motivational Story in Hindi

जो सपने देखने की हिम्मत रखते हैं

वह पूरी दुनिया जीत सकते हैं

Michael Jordan Motivational Story in Hindi
Michael Jordan Motivational Story in Hindi

दोस्तों आज मैं आज आपको माइकल जॉर्डन के जीवन की एक सच्ची कहानी के बारे में बताने जा रहा हूं। मुझे उम्मीद है कि यह कहानी सुनने के बाद आपके जीवन की सारी नकारात्मक सोच खत्म हो जाएगी और आप अपने सपनों को पूरा करेंगे। कहानी शुरू करने से पहले मैं माइकल जॉर्डन के बारे में थोड़ा सा बता देता हूं जिस तरह सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के भगवान माने जाते हैं उसी तरह बास्केटबॉल खेल में माइकल जॉर्डन का नाम सबसे पहले आता है।

माइकल जॉर्डन अमेरिकी भारत महान बॉस्केटबॉल खिलाड़ी है जिन्होंने अब संयास ले लिया है। माइकल बहुत ही गरीब घर में पैदा हुए थे। वह और उनका परिवार एक छोटे से झोपड़ी में रहता था। माइकल की सोच हमेशा कुछ बड़ा करने की रहती थी जिससे कि उनकी गरीबी की समस्या सुलझ जाए। जब वह 13 साल के थे तभी उनके पिता ने उन्हें बुलाया और एक पुराना एक यूज़ किया हुआ कपड़ा देकर बोले अच्छा बेटा यह बताओ इसकी कीमत कितनी होगी। माइकल थोड़ा सोचने के बाद बोला यह $1 का तो होगा। अभी पिता ने कहा कुछ भी कर के बाजार जाकर तो मैं इस कपड़े को 2 डॉलर में बेचना है। माइकल ने उस कपड़े को अच्छे से धो दिया और फिर घर पर स्त्री ना होने के कारण उसे ढेर सारे कपड़ों के नीचे सीधा करने के लिए रख दिया। अगले दिन देखा कपड़ा पहले से अच्छे दिखाई दे रहा है उसके बाद उसने पास के रेलवे स्टेशन पर जाकर 5 घंटो के मेहनत के बाद उसे बेच दिया और बहुत खुश होता हुआ घर आया और अपने पापा को पैसा दे दिया।

15 दिनों के बाद पिता ने फिर से वैसे ही एक कपड़ा दिया और कहा कि जाओ इसे $20 में बेच कर आओ। माइकल थोड़ा सा आश्चर्य हिंदी फिल्म होते हुए बोला इसके $20 कौन देगा पिता ने कहा एक बार कोशिश तो करो। उसने फिर से अपना दिमाग लगाया और अपने दोस्त की मदद से शहर जा कर उस कपड़े पर मिकी माउस की स्टीकर लाकर लगा दी और अमीर घर वाले बच्चों के स्कूल के सामने उसे बेचने लगा। एक छोटे से बच्चे ने अपने पापा से कह कर उसे खरीद लिया। छोटे बच्चे के पिता ने उस कपड़े के 5$ एक्स्ट्रा टिप भी दिए और इस तरह उसने $1 के उस कपड़े को पूरे $25 में बेचा और खुशी-खुशी आकर पापा को बताया।

कुछ दिनों के बाद फिर से उसे एक और कपड़ा दिया और कहा यह लो जाओ इसे $200 में बेच कर आओ। इस बार तो यह बहुत ज्यादा था लेकिन माइकल ने कुछ भी नहीं कहा क्योंकि वह हर बात सफल हुए जा रहा था। इस बार उसने दो-तीन दिनों का समय लिया। उसे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था आखिर वह इसका दाम $1 से बढ़ाकर $200 कैसे करें?? अचानक उसके दिमाग में एक आइडिया आया वह तुरंत शहर चला गया। उस दिन उस शहर में बहुत ही पॉपुलर एक्ट्रेस आई हुई थी। उसने पुलिस का घेरा तोड़ते हुए इस एक्ट्रेस से उस कपड़े पर ऑटोग्राफ मांगने चला गया। मासूम से बच्चे को देखकर एक्ट्रेस मना नहीं कर पाई और उस एक्ट्रेस ने उस कपड़े पर आपने ऑटोग्राफ दे दिए। अगले दिन में बाजार जा कर उस ऑटोग्राफ वाले कपड़े को $200 में बेचने लगा और उसे लेने के लिए बहुत सारे लोग इकट्ठा हो गए भीड़ इतनी ज्यादा हो गई थी कि उस कपड़े को खरीदने के लिए बोली लगने शुरू हो गयी और अंत में उस कपड़े को एक व्यक्ति ने $2000 में खरीद लिया।

जब इस बार वह इतने पैसे लेकर घर पहुंचा और पूरी कहानी अपने पिता को बताई तो उनकी आंखों में आंसू आ गए और वह बोले बेटा तू अपनी जिंदगी में कुछ भी कर सकता है इसी बात को याद करते हुए माइकल ने एक इंटरव्यू में कहा

जहां पर सकारात्मक सोच होती है वहां रास्ते अपने आप बन जाते हैं। दोस्तों नकारात्मक सोच से कभी भी आप सकारात्मक जीवन नहीं जी सकते इसीलिए हमेशा बड़ा सोचे सकारात्मक सोचे।

आपका रास्ता खुद ब खुद बन जाएगा।

अन्य उपयोगी लेख: