Biography Inspirational

Bruce Lee biography in Hindi | ब्रुस ली की जीवनी

Bruce Lee biography in Hindi
Bruce Lee biography in Hindi

अगर दुनिया की सबसे तेज आदमी की बात की जाए या फिर बात की जाए मार्शल आर्ट की तो आज भी एक मात्र उस शक्स का चेहरा हमारे दिमाग में आता है वह है ब्रूसली जो अपने बिजली जैसे फुर्ती और खतरनाक तेज किक से सेकंड में किसी को भी धूल चटा सकते थे।

दोस्तों वैसे तो बहुत कम लोग होंगे जो ब्रूस ली नाम से वाकिफ नहीं होंगे लेकिन जो उनके बारे में नहीं जानता है उन्हें मैं बता देता हूं कि ब्रूसली मार्शल आर्ट के बादशाह थे या फिर कह लीजिए उनके जैसा मार्शल आर्ट का हुनरबाज उनके बाद आज तक कोई पैदा ही नहीं हुआ। मार्शल आर्ट के बादशाह होने के साथ ही साथ वह हॉलीवुड फिल्मों के बहुत बड़े स्टार थे। उन्होंने बहुत सारी सुपर हिट फिल्में भी दी है।

ब्रूसली की मृत्यु 32 वर्ष की बहुत कम उम्र में हो गई जिसके बारे में मैं आपको डिटेल में आगे बताऊंगा। लेकिन उन्होंने इस छोटे से उम्र में कितना कुछ कर दिखाया था वह हर किसी के बस की बात नहीं है। ब्रूस ली के जीवन के बारे में बताने से पहले मैं आपसे उनके कुछ अद्भुत बातों को शेयर करना चाहता हूं जिससे आपके अंदर उनके जीवन को जानने का इंटरेस्ट और भी बढ़ जाएगा। दोस्तों कहा जाता है कि ब्रूस ली के किक की स्पीड इतनी तेज होती थी फिल्म की शूटिंग के बाद उनकी फाइटिंग के सीन को स्लो करना पड़ता था ताकि इस स्क्रीन पर यह ना लगे कि ब्रूसली नकली एक्टिंग कर रहे हैं। ब्रूसली किसी को भी 3 फीट दूर खड़े होने के बावजूद 0।05 सेकंड मैं पंच मारकर गिरा सकते थे जोकि अपने आप में एक अद्भुत टैलेंट था। ली भारत के गामा पहलवान के बहुत बड़े प्रशंसक थे। गामा पहलवान दुनिया के इकलौते पहलवान थे जिन्हें पूरी जिंदगी कोई भी मात नहीं दे पाया था। उन्होंने अपनी बॉडी पत्थर के डंबल और औजारों से बनाई थी। उनके जैसा पहलवान भारत को अभी तक नहीं मिल सका। यह तो हो गई ब्रूस ली की कुछ अद्भुत बातें लेकिन चलिए अब मैं उनके लाइफ के बारे में आपको शुरु से बताता हूं।

उनका जन्म 27 नवंबर 1940 को सनफ्रांसिस्को के चाइना टाउन में जैक्सन स्ट्रीट हॉस्पिटल में हुआ था। ब्रूसली का वास्तविक नाम jun fan ली था।  ब्रूस नाम उनको हॉस्पिटल की नर्स ने दिया था जहां वह पैदा हुए थे। उनके पिता का नाम lee hio chueen था जोकि चीनी थे और उनकी मां का नाम Grace Ho था।  ब्रूस ली के पैदा होने के कुछ महीनों के बाद ही उनके पिता पूरे परिवार के साथ अपने जन्म स्थान हांगकांग वापस आ गए।

lee hio chueen ओपेरा स्टार थे। अगर आपको ओपेरा के बारे में नहीं पता तो बता दूं कि यह एक तरह का नाटकीय संगीत है। मतलब इसमें कुछ लोग का ग्रुप एक्टिंग करते हुए गाना गाते हैं। इस तरह के संगीत यूरोपियन कंट्रीज में बहुत पसंद किया जाता है। उनके पिता के ओपेरा स्टार होने की वजह से 3 महीने की आयु मैं ही ब्रूसली को को गोल्डन गेट कलर नाम के फिल्म में एक सीन में बच्चे का किरदार मिला और उनका फिल्मी सफर मात्र 3 महीने के छोटी सी उम्र से स्टार्ट हो गया। देखते ही देखते 16 साल की उम्र तक उन्होंने 20 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है। ली ने अपने शुरू की पढ़ाई पास के ही एक स्कूल से की।

जब ली 16 साल थे थे तो उन दिनों उनके शहर में कुछ गुंडे आकर बस गए थे जोकि आम लोगों को बहुत परेशान किया करते थे इसीलिए वह अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए  16 साल की उम्र में मार्शल आर्ट का हुनर सीखना शुरु कर दिया। उन्होंने यिप मैन से ट्रेनिंग ली जो कि एक जाने माने ट्रेनर थे। उन्होंने ब्रूसली को yip man नाम के मार्शल आर्ट का अद्भुत टेक्निक सिखाया। मार्शल आर्ट के नॉलेज होने के बाद ब्रूसली को गुंडों से लड़ने का शौक हो गया था जिसकी वजह से उनके पिता बहुत परेशान रहते थे और ना चाहते हुए भी उन्होंने ब्रूसली को अमेरिका भेज दिया। वहां जाकर अपने खर्चों के लिए ब्रूसली ने लोगों को गार्डन में मार्शल आर्ट सिखाना शुरू किया और 20 साल की उम्र में कुछ पैसे जमा कर यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन में एडमिशन ले लिया और वहां भी उन्होंने स्टूडेंट्स को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग देनी शुरू कर दी।

इसी बीच उनकी मुलाकात लिंडा एमरी से हुई और वे लिंडा को अपना दिल दे बैठे और अगस्त 1964 में शादी कर ली। ब्रूस ली और लिंडा के दो बच्चे हुए ब्रैनडन ली और शैनन ली। बड़ी होकर ब्रैनडन जोकि अपने पिता की तरह एक एक्टर बने लेकिन 1993 में जब द crow मूवी के शूटिंग के समय गलती से उन्हें बंदूक की गोली लग गई जिससे उनकी मृत्यु हो गई।  शैनन ली भी अभिनेत्री बनी और 1990 के समय तक उन्होंने कुछ फिल्मों में काम किया लेकिन उसके बाद से उन्होंने एक्टिंग छोड़ दी।

ब्रूस ली शादी के बाद मूवी के कुछ सीन के लिए मार्शल आर्ट सिखाने लगे। फिर 1969 में लॉस एंजिलिस के चाइनाटाउन में उन्होंने मार्शल आर्ट सिखाने के लिए एक ट्रेनिंग सेंटर खोले। जहां वह बड़े-बड़े एक्टर्स को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दिया करते थे। उसी साल उन्होंने एक फिल्म मैं हेल्पिंग एक्टर के तौर पर काम किया था। अभी तक उन्होंने बहुत सारी फिल्मों में काम किया था लेकिन वह अपनी एक्टिंग के लिए फेमस नहीं हुए थे। उनकी पहली बड़ी मूवी 1971 में आई जिसका नाम The Bigg Boss था जो कि एक चाइनीज़ मूवी थी। जिसमें उन्होंने लीड रोल दिया था। इस फिल्म की वजह से ब्रूस ली पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हो गए। उसके बाद देखते ही देखते एक्टिंग की दुनिया में उन्होंने बड़ी सफलता हासिल कर ली। उसके बाद वे ऑफ ड्रैगन जैसी सुपरहिट फिल्में दी।

ब्रूसली एक अच्छे आर्टिस्ट और पोएट भी थे। उन्हें किताब पढ़ने का बहुत शौक था। इतनी सफलता के बाद किसी इंसान की जिंदगी में अफवाहें ना आए ऐसा तो पॉसिबल ही नहीं है। लोग कहते हैं कि बुलंदी पर पहुंचने के बाद उन्हें नशीली दवाओं के सेवन का शोक पैदा हो गया था। वह अपने आप को मार्शल आर्ट का संपूर्ण गुरु बनाने की सनक में जरूरत से ज्यादा अभ्यास करना शुरू कर दिया जिससे उनकी दिमाग की नसें कमजोर पड़ गई थी।

20 जुलाई 1973 की शाम ब्रूस ली के सिर में हल्का सा दर्द हुआ उन्होंने दर्द की दवा ली और थोड़े ही देर में वह बेहोश हो गए। वहां से तुरंत उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी बेहोशी फिर कभी नहीं टूटी। मार्शल आर्ट का बादशाह 32 साल की कम उम्र में ही इस दुनिया को अलविदा कह गया। दोस्तों ब्रूस ली का कहना था यदि आप किसी चीज के बारे में सोचने में बहुत अधिक समय लगाते हैं तो आप उसे कभी नहीं कर पाएंगे।

अन्य उपयोगी पोस्ट्स: