Flipkart Success Story in Hindi – Sachin Bansal & Binny Bansal Biography

Flipkart Success Story in Hindi
Flipkart Success Story in Hindi

बहुत ही कम लोग होंगे जो इस कंपनी के नाम से वाकिफ नहीं होंगे। 2007 में इस कंपनी की शुरुआत हुई जो कि सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने मिलकर की थी। सचिन बंसल का जन्म चंडीगढ़ में हुआ था। उनके पिता एक बिजनेसमैन है और उनकी माँ एक हाउसवाइफ। सचिन बंसल ने अपना ग्रेजुएशन IIT दिल्ली से कंप्यूटर साइंस से किया था। IIT दिल्ली में पढ़ने की वजह से उन्हें अपने करियर के लिए टेंशन लेने की जरुरत तो बिलकुल भी नहीं थी।

बिन्नी बंसल ने भी उन्ही के साथ IIT से पढ़ाई की थी और वो भी चंडीगढ़ से है। दोनों के बैकग्राउंड सेम होने की वजह से वे एक दूसरे को बहुत अच्छे से समझते है जो की एक पार्टनरशिप में बहुत महत्पूर्ण भूमिका निभाता है। पढ़ाई के बाद सचिन बंसल और बिन्नी बंसल दोनों एक साथ amazon के लिए काम करते थे जो की दुनिया की सबसे बड़ी e-commerce कंपनी है। Amazon में काम करते समय ही उन्हें खुद की कंपनी खोलने का विचार आया और अपनी कंपनी खोलने के लिए सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने एक साथ कंपनी को छोड़ दिया। यह एक बड़ा रिस्क तो था लेकिन कहते है न की जो बड़ा रिस्क उठाने का साहस नहीं रखते, वे जीवन में कुछ हासिल नहीं कर सकते।

सचिन बंसल और बिन्नी बंसल दोनों ने मिलकर 5 September 2007 को अपनी एक कंपनी खोली जिसका नाम उन्होंने फ्लिपकार्ट रखा। जब यह कंपनी आयी थी तब भारत में ना के बराबर ही e – commerce कंपनी थी और जो पहले से कंपनी थी भी तो वह लोगो की मानसिकता के कारण फ़ैल हो रही थी। उस समय लोगो की सोच थी की कोई भी वस्तु बिना देखे और बिना छुए कैसे खरीदी जा सकती है। सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने लोगो की मानसिकता cash on delivery ला कर बदल दी जो की भारत में पहली बार था। इससे पहले भारत में ऑनलाइन साइट केवल डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड से पैसे लेती थी जिस पर लोग जयादा भरोसा नहीं करते थे। यह कंपनी 2007 ने किताब बेचने से शुरू हुई थी। शुरू में खुद सचिन बंसल और बिन्नी बंसल स्कूटर से किताबो की बिक्री करने जाते थे और बुकशॉप के सामने खड़े होकर पम्पलेट बाटा करते थे। सचिन बंसल और बिन्नी बंसल की मेहनत रंग लाई और 2008 में filpkart ने 40 मिलियन की बिक्री कर दी। ऐसा देखने के बाद इन्वेस्टर भी कंपनी की तरफ आकर्षित हुए जिससे flipkart ने बहुत सारी funding हासिल की। उसके बाद इस कंपनी ने कभी भी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और इसकी ग्रोथ कई गुना हो गयी।

See also  Neymar Jr Biography in Hindi

2014 में फ्लिपकार्ट ने Myntra।com और कई साइट्स को खरीद लिया। अब फिल्पकार्ट पर Fashion, एसेसरीज, Computer, Mobile से लेकर हमारी जरुरत की हर चीजे मिलती है। 2016 में Flipkart की बिक्री 40 बिलियन तक पहुंच गयी।  इस कंपनी में 15000 से जयादा लोग काम करते है। आप फ्लिपकार्ट की अपार सफलता से तो समझ गये होंगे की इस दुनिया में कोई भी काम असंभव नहीं है जरुरत है तो बस सच्ची लगन की क्योकि सच्ची लगन से जो काम किया जाये उसमे सफलता जरूर मिलती है।

अन्य उपयोगी लेख: