HomeDesh Bhakti Geet

Ye Tiranga Umar Bhar Kashmir Per Laherayega Lyrics यह तिरंगा उम्र भर कश्मीर पर लहराएगा

Ye Tiranga Umar Bhar Kashmir Per Laherayega Lyrics यह तिरंगा उम्र भर कश्मीर पर लहराएगा
Like Tweet Pin it Share Share Email

Ye Tiranga Umar Bhar Kashmir Per Laherayega Lyrics

Ye Tiranga Umar Bhar Kashmir Per Laherayega Lyrics in Hindi

ये तिरंगा उम्रभर कश्मीर पर लहराएगा..2
जो भी टकराएगा हमसे खाक में मिल जाएगा

खून की लाली जवानों की बड़ा रंग लाई है
दुश्मनों ने चोट दिल में, मातमो की खाई है
आग बनकर उनपे बरसी, है हमारी गोलियां
जो किया उसकी सजा, उन दुश्मनों ने पाई है
हिंद की धरती पर दुश्मन, लौट कर ना आएगा
यह तिरंगा उम्र भर कश्मीर पर फहराएगा..2

दुश्मन बिखर गए तिनके बनके, आंधियों के सामने
धज्जियाँ ऐसे उड़ी, आया ना कोई थामने
उनकी लाशों को भी हमने, दफ़न इज्जत से किया..2
हमने एक मिसाल रखी, है जहां के सामने
अब वह दुश्मन, दुनिया से, आंखें मिला ना पाएगा
यह तिरंगा उम्र भर कश्मीर पर फहराएगा
जो भी टकराएगा हमसे खाक में मिल जायेगा

जो वतन पर मर मिटे, हर दिल में उनका दर्द है
उनके घर वालों की रक्षा करना, अपना फर्ज है
उनकी कुर्बानी भुला सकता नहीं, अपना वतन,
देश के हर नागरिक के सर पर, उनका क़र्ज़ है
देश अपना उम्र भर ये क़र्ज़ भर ना पायेगा
यह तिरंगा उम्र भर कश्मीर पर लहराएगा

वंदेमातरम ! वंदेमातरम ! वंदेमातरम !

हम बनाएंगे शहीदों के स्मारक, हर जगह
हमने उनसे पाई है जीने की अपनी ये वजह
वक्त के माथे पे लिख देंगे हम उनके नाम को
याद रखेगा ये भारत, उन शहीदों को सदा
कश्मीर का जर्रा-जर्रा उनके नगमे गायेगा
जो भी टकराएगा हमसे खाक में मिल जाएगा

यह तिरंगा उम्र भर कश्मीर पर फहराएगा


Ye Tiranga Umar Bhar Kashmir Per Laherayega Lyrics

Ye Tiranga Umrabhar Kashmeer Par Laharaega..2
Jo Bhee Takaraega Hamase Khaak Mein Mil Jaega

Khoon Kee Laalee Javaano Ki Bada Rang Lai Hai
Dushmanon Ne Chot Dil Mein, Maatamo Ki Khai Hai
Aag Banakar Unape Barasayi, Hai Humne Goliyaan
Jo Kiya Usaki Saja, Un Dushmano Ne Pai Hai
Hind Ki Dharati Pe Dushman, Laut Kar Na Aaega
Ye Tiranga Umr Bhar Kashmeer Par Phaharaega..2

Dushman Bikhar Gae Tinake Banake, Aandhiyon Ke Saamane
Dhajjiyaan Aise Udi, Aaya Na Koi Thaamane
Unki Laashon Ko Bhee Hamane, Dafan Ijjat Se Kiya..2
Hamane Ek Misaal Rakhi, Hai Jahaan Ke Saamane
Ab Vah Dushman, Duniya Se, Aankhen Mila Na Paega
Yah Tiranga Umr Bhar Kashmeer Par Phaharaega
Jo Bhee Takaraega Hamase Khaak Mein Mil Jaayega

Jo Vatan Par Mar Mite, Har Dil Mein Unka Dard Hai
Unke Ghar Vaalon Ki Raksha Karna, Apana Farj Hai
Unki Kurbani Bhula Sakta Nahin, Apana Vatan,
Desh Ke Har Naagarik Ke Sar Par, Unaka Qarz Hai
Desh Apna Umr Bhar Ye Qarz Bhar Na Paayega
Yah Tiranga Umr Bhar Kashmeer Par Laharaega

Vandemaataram ! Vandemaataram ! Vandemaataram !

Ham Banaenge Shaheedon Ke Smaarak, Har Jagah
Hamane Unse Pae Hai Jeene Ki Apni Ye Vajah
Waqt Ke Maathe Pe Likh Denge Ham Unake Naam Ko
Yaad Rakhega Ye Bhaarat, Un Shaheedon Ko Sada
Kashmeer Ka Jarra-Jarra Unke Nagame Gaayega
Jo Bhee Takaraega Hamase Khaak Mein Mil Jaega

Yah Tiranga Umr Bhar Kashmeer Par Phaharaega

यह भी पढ़ें —-

Ye Desh Hai Veer Jawano Ka Song Lyrics
Aye Mere Watan Ke Logo lyrics
Jahan Daal Daal Par Sone Ki Chidiyan Lyrics
Aye Watan Aye Watan Lyrics
Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics