कहानियां

चालाक लोमड़ी – बेवकूफ कौआ

clever foxएक दिन एक कौआ पेड़ की ऊँची डाल पर बैठा रोटी कहा रहा था | एक लोमड़ी ने उसे देखा तो उसके मुँह मै पानी आ गया| उसने सोचा की किसी प्रकार कौआ से रोटी हड़पनी चाहिए|

लोमड़ी की चालाकी तो जगप्रसिद है |

उसने झटपट एक योजना बनायीं और उसी पेड़ के नीचे जा पहुंची|

उसने कौआ की और देखकर कहा ,”कौए भाई, आज तो आप बहुत चमकदार और सुन्दर लग रहे है | आपकी तो वाणी भी मधुर है, आप तो पक्षियों राजा बनने योग्य है| मगर जंगल के इन मुर्ख पक्षियों के कौन समझाए? जरा मुझे अपनी मीठी आवाज मे एक गीत तो सुनाइये |”

अपनी झूठी तारीफ सुनकर मुर्ख कौआ घमंड मे आ गया और बोला -“धन्य…!” उसने जैसे ही धन्यवाद देने के लिए अपनी चोंच खोली वैसे ही रोटी नीचे आ गिरी|

लोमड़ी ने लपककर रोटी उठाई और पालक झपकते ही नो दो ग्यारह है गई|

मुर्ख कौआ ताकता रह गया|

यह भी देखें: 

अंधे लोग Blind People Akbar and Birbal Stories in Hindi

छोटी रेखा | Small Line Akbar Birbal Stories

अकबर बीरबल की रोचक कहनियाँ Akbar Birbal Stories in Hindi

धोबी का गधा Panchatantra Stories in Hindi, Panchatantra ki Kahaniya

Honesty  ईमानदारी  अकबर बीरबल की नैतिक कहनियाँ

The List of Fools- मुर्ख लोगों की सूची  Akbar Birbal Stories in Hindi